# IBPS Clerk परीक्षा पैटर्न, सिलेबस, चयन प्रक्रिया की सम्पूर्ण जानकारी

Contact Form

Name

Email *

Message *

# IBPS Clerk परीक्षा पैटर्न, सिलेबस, चयन प्रक्रिया की सम्पूर्ण जानकारी

IBPS Clerk Syllabus and Exam perpetration methods are given in this article
आईबीपीएस - इंस्टिट्यू ऑफ बैंकिंग पर्सनल सिलेक्शन हर साल पब्लिक सेक्टर के बैंकों के लिए क्लर्क के पदों पर भर्तियां हेतु परीक्षा का आयोजन करता है।हम आपको परीक्षा से सम्बन्धित जानकारी देने का प्रयास करेंगे। यह परीक्षा तीन चरणों प्री, मेंस एवं इंटरव्यू में पूर्ण होती है। हम आपको विस्तार से इसके सिलेब्स, पैटर्न एवं अन्य महत्वपूर्ण जानकारी बताते हैं 
पहला चरण IBPS clerk pre exam pattern (आईबीपीएस क्लर्क प्री एग्जाम पैटर्न)
IBPS Clerk की पहली चरण (प्राथमिक परीक्षा) ऑनलाइन आयोजित होती है, परीक्षा का समय 1 घंटे का होता है। परीक्षा के अधिकतम अंक 100 रहते हैं, इस परीक्षा में कुल 100 प्रश्न पूछे जाते हैं।
यह प्रश्न 3 सेक्शन में होते हैं। गलत जवाब पर परीक्षार्थी के 0.25 अंक काटे जाते हैं। परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग की जाती है। आईबीपीएस क्लर्क परीक्षार्थी को तीनो सेक्शन में कटऑफ अंक लाना अनिवार्य है।
परीक्षा में आने वाले विषय अनुसार सवालों के अंक विवरण निम्नानुसार हैं
विषय
प्रश्न संख्या
अंक
समय
मैथ्स
35
35
20 मिनट
इंग्लिश
30
30
20 मिनट
रीजनिंग
35
35
20 मिनट
कुल
100
100
60 मिनट
आईबीपीएस क्लर्क के प्राथमिक चरण की परीक्षा में 3 विषयों के 100 प्रश्न पूछे जाते हैं। यह प्रश्न कुल 100 अंक के होते हैं। जिनके लिए 1 घंटे का समय दिया जाता है।
दूसरा चरण आईबीपीएस क्लर्क की मुख्य परीक्षा का पैटर्न
आईबीपीएस क्लर्क की पहले चरण की परीक्षा पास करने के बाद दूसरे चरण की मुख्य परीक्षा का आयोजन किया जाता है। मुख्य परीक्षा में 190 प्रश्न पूछे जाते हैं।
यह 190 प्रश्न 200 अंक के होते हैं। आईबीपीएस क्लर्क की मुख्य परीक्षा 4 सेक्शन में होती है। IBPS Clerk की मुख्य परीक्षा भी प्राथमिक परीक्षा की तरह ऑनलाइन ही आयोजित की जाती है।
आईबीपीएस क्लर्क के दूसरे चरण के मुख्य परीक्षा के लिए समय 160 मिनट का दिया जाता है। मुख्य परीक्षा में गलत जवाब के लिए 0.25 अतिरिक्त अंक नेगेटिव मार्किंग के काटे जाएंगे। मुख्य परीक्षा में गत वर्ष अलग किए गए 2 सेक्शन रीजनिंग और कम्प्यूटर एप्टीट्यूड को इस साल एक कर दिया जाएगा।
इन दोनों सेक्शन से इस बार 50 अंक के प्रश्न पूछे जाएंगे। इन दोनों सेक्शन के लिए इस बार परीक्षार्थियों को 45 मिनट का समय दिया गया है। आईबीपीएस क्लर्क की दूसरे चरण की मुख्य परीक्षा का पैटर्न निम्नानुसार है
विषय
कुल प्रश्न
प्रश्नों के लिए अंक
निर्धारित समय
रीजनिंग ओर कम्प्य़ूटर
50
60
45 मिनट्स
क्वोंटिटेटिव एप्टीट्यूड
50
50
45 मिनट्स
सामान्य इंग्लिश
40
40
35 मिनट्स
सामान्य\ फायनेंशल  अवेयरनेस
50
50
35 मिनट्स
टोटल
190
200
2.40 मिनट्स
नेगटिव मार्किंग का फंडा
आईबीपीएस क्लर्क की परीक्षा के प्राथमिक एग्जाम ओर मेंस एगजाम में नेगेटिव मार्किंग की जाएगी। यह दोनों परीक्षा ऑब्जेक्टिव टाइप होंगी। दोनों परीक्षाओं में 0.25 अतिरिक्त अंक गलत जवाब के काटे जाएंगे, पर कोई सवाल को अगर आप बिना जवाब दिए छोड़ेंगे तो नंबर नहीं काटे जाएंगे। नेगेटिव मार्किंग में 0.25 अंक काटने का मतलब है कि अगर सवाल 1 अंक का है तो गलत जवाब देने पर आपके 1.25 अंक काट दिए जाएंगे।
आईबीपीएस परीक्षा के लिए अंग्रेजी की तैयारी केसे करें?
आईबीपीएस क्लर्क की परीक्षा में प्री एग्जाम में इग्लिश 30 अंक की एवं मेंस एग्जाम में 40 अंक के इंग्लिश के सवाल पूछे जाएंगे। इसलिए आपका इंग्लिश पर पकड़ होना बहुत जरूरी है। इंग्लिश की रीढ़ की हडडी होती है इंग्लिश ग्रामर इसलिए आपका इंग्लिश ग्रामर पर पकड़ बनाना अति आवश्यक है।
इंग्लिश में सबसे ज्यादा सवाल ग्रामर के ही पूछे जाते हैं। इसलिए आपको इंग्लिश ग्रामर में verb, articles, narration, active and passive voice, direct and indirect speeches आदि का ज्ञान होना आवश्यक है।  इनके अलावा आपका इंग्लिश के शब्दकोष पर भी अध्ययन करना आवश्यक है।
इंग्लिश में वकेब्युलरी (शब्दावली) को स्ट्रॉन्ग बनाना पड़ेगा। इसके लिए आप इंग्लिश से सम्बन्धित चैनल देखिए, इंग्लिश शो देखिए या न्यूजपेपर , मैगजीन पढिए। इंग्लिश शब्दावली पढ़िए और इससे सम्बन्धित सवालों का भी अध्ययन कीजिए।
कम्प्यूटर का अध्ययन
आईबीपीएस क्लर्क परीक्षा में पूछे जाने वाले कम्प्यूटर के सवालों के लिए आपका कम्प्यूटर के विषय में ज्ञान होना अति आवश्यक है। इसके लिए आपको कम्प्य़ूटर के इतिहास और उसके भागों की जानकारी होना आवश्यक है।
कम्प्य़ूटर आज के युग में अति महत्वपूर्ण है इसलिए परीक्षाओं में इससे सम्बन्धित सवाल अवश्य पूछे जाते हैं। कम्प्यूटर अध्ययन के लिए आपको कम्प्य़ूटर के सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर की जानकारी प्राप्त करनी होगी। आपको सॉफ्टवेयर ओर हार्डवेयर की बुनियादी जानकारी का अध्ययन करना अति आवश्यक है।
इनके अलावा कम्प्यूटर के इनपुट डिवाइस , आउटपुट डिवाइस, एम एस ऑफिस, मेमोरी, रेम/ रोम आदि भागों की जानकारी का अध्ययन अति आवश्यक है। आपको कम्प्यूटर में पकड़ बनाने के लिए कीबोर्ड शॉर्टकट्स, इंटरनेट, वायरस, प्रोटोकॉल ओर  कम्प्य़ूटर लेंगवेज आदि के बारे में भी ज्ञान प्राप्त करना होगा।
रीजनिंग का अध्ययन केसे करें
आईबीपीएस क्लर्क की परीक्षा के लिए आपको रीजनिंग का ज्ञान आना चाइए। पर कभी आप इस विषय में शॉर्टकट की मदद न लें। इसके लिए आप बिना किसी शॉर्टकट के रोजाना कड़ी मेहनत करनी पड़ेगी।
इसके लिए आपको कोडिंग- डिकोडिंग, लॉजिकल रीजनिंग, सीटिंग अरेंजमेंटपजल, रक्त सम्बन्ध, प्रॉब्लम सॉल्विंग, आदि का अध्ययन करना आवश्यक है।
IBPS Clerk का महत्वपर्ण हिस्सा है रीजनिंग इसलिए आपको इसका अध्ययन अच्छे से करना होगा। रीजनिंग में आपको कड़ी मेहनत करके मजबूत पकड़ बनानी होगी।
सामान्य ओर फाइनेंशल अवेयरनेस की तैयारी
जनरल ओर फाइनेंशल अवेयरनेस एक ऐसा विषय है जिसके लिए आपको विशेष रूप से अध्ययन करने की आवश्यकता नहीं होती इसके अध्ययन के लिए आपको केवल आपके आसपास घट रही घटनाओं की जानकारी होना आवश्यक है।
इसके लिए आप आपके आसपास के माहौल का विश्लेषण, नियमित न्यूज पेपर का अध्ययन, ओर न्यूजचेंनल को देखना चाइए। इनके लिए आपको गत 6 महीनों में वितरित हुए पुरस्कारों, खेलों, बैंकिंग इतिहास, भारतीय अर्थवयवस्था, वित्त, कृषि, मार्केटिंग, आरबीआई का कामकाज आदि घटनाओं की जानकारी का अध्ययन कीजिए और हो सके तो इसके नोट्स बनाकर उनको पढ़िए। पत्रिकाओं को नियमित रूप से पढ़िए। आईबीपीएस क्लर्क के लिए रीजनिंग सबसे सरल विषय है जिसके लिए आपको अतिरिक्त मेहनत नहीं करनी पड़ती।
आईबीपीएस क्लर्क के प्री एग्जाम का सिलेबस
 रीजनिंग योग्यता
 मैथ्स
 इंग्लिश विषय
लॉजिकल रीजनिंग, सीटिंग अरेंजमेंटपजल, रक्त सम्बन्ध, कोडिंग/डिकोडिंग, इनपुट/आउटपुट, डाटा सफिसिएंसी, अल्फानुमेरिक सीरीज, टेबुलेशनडायरेक्शन/ अल्फाबेट/ रैंकिंग टेस्ट, सिलॉजिज्म, कोडेड इनीक्वालिटिज
प्रोबेबिलिटी, परम्यूटेशन, सीक्वेंस एंड सीरीज, रेशियो एंड प्रोपोरशन, मेंसुरेशन सिलेंडर, टाइम एंड डिस्टेंस, वर्क एंड टाइम, सिंपलीफिकेशन, मिक्चर एंड एलिगेशन, कॉम्बिनेशन, नंबर सिस्टम, पर्सेंटेज, डाटा इंटर प्रिटेशन, कोर्न, स्पेहर, प्रॉफिट एंड लॉस, सिम्पल इंट्रेस्ट एंड कम्पाउन्ड इंटरेस्ट एंड सर्ड्स एंड इंडिशिस
पैराग्राफ कॉम्प्लेक्शन, फिल इन द ब्लैंक्स, पैरा जंबल्स, रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन, मिसलेनियस, मल्टीपल मीनिंग/ एरर स्पॉटिंग, क्लोज टेस्ट
आईबीपीएस क्लर्क के अंतिम परिणाम का निर्णय तय होने का केलकुलेशन
आईबीपीएस क्लर्क का परिणाम निर्धारित केसे किया जाता है? यह हम आपको विस्तार में समझाएंगे। आईबीपीएस क्लर्क के प्री एग्जाम के स्कोर द्वारा आपका मेंस एग्जाम में चयन किया जाएगा।
आप अगर प्री एग्जाम में सफल होंगे तो आप मेंस का एग्जाम दे पाएंगे, प्री एग्जाम के मार्क्स केवल मेंस एग्जाम के लिए जरूरी होते है प्री के मार्क्स को फाइनल मार्क्स में नहीं जोड़ा जाता। परीक्षार्थी फाइनल के लिए मेंस ओर इंटरव्यू के मार्क्स में पास होना अनिवार्य है। IBPS Clerk परीक्षा पास करने के लिए हर वर्ग के लिए 100 अंक निर्धारित किए गए हैं।